Lovedeep Kapila

Hello World

Means of Donation दान का मतलब

Jan 272018

दान में महत्व है त्याग का, वस्तु के मूल्य या संख्या का नहीं | ऐसी त्याग बुद्धि से जो सुपात्र को यानि जिस वस्तु का जिसके पास अभाव है, उसे वह वस्तु देना और उसमें किसी भी प्रकार की कामना न रखना, उत्तम दान है | निष्काम भाव से किसी भूखे को भोजन और प्यासे को जल देना सात्विक दान है |undefined

संत एकनाथ जी की कथा आती है | की वह एक समय प्रयाग से कांवर पर जल लेकर श्रीरामेश्ह्वर चढ़ाने के लिए जा रहे थे | रास्ते में जब एक जगह उन्होंने देखा कि एक गधा प्यास के कारण पानी के बिना तड़प रहा है, तो उसे देखकर उन्हें दया आ गयी और उन्होनें उसे थोडा-सा जल पिलाया, इससे उसे कुछ चेत-सा आया | फिर उन्होनें थोडा-थोडा करके सारा जल उसे पिला दिया | वह गधा उठकर चला गया | साथियों ने सोचा कि त्रिवेणी का जल व्यर्थ हो गया और यात्रा भी निष्फल हो गयी |
तब एकनाथ जी ने हंसकर कहा, " भाइयों, बार बार सुनते हो कि भगबान सब प्राणियों के अंदर हैं, फिर भी ऐसे बावलेपन कि बातें सोचते हो | मेरी पूजा तो यहीं से श्रीरामेश्वर को पहुँच गई | भगवान शंकर ने मेरे जल को स्वीकार कर लिया |

Comments

Atom

Powered by Lovedeep Kapila